You are here

Written by 

रेलवे में स्टेशन मास्टर MONIKA MAHARAJ के लिए वर बताइए Looking for Groom Matrimonial 

रेलवे में स्टेशन मास्टर MONIKA MAHARAJ के लिए वर बताइए

BIODATA of MONIKA MAHARAJ Name: MONIKA MAHARAJ Place of Birth: Danapur, Bihar, India Date of Birth: February 28th, 1990 Time of Birth: 07.50 hrs.  Religion: Hindu Caste: Brahmin (Brahmbhatt) Gotra: Kashyap Manglik: Non-Manglik Height: 5’3’’ Complexion: Wheatish Weight: 56 kgs Education: B.A. (Hons.) from St. Xavier’s College, Kolkata & Company Secretary (CS) from The Institute of Company Secretaries of India. Occupation: Station Master...
बसंत ऋतु का आगमन प्रकृति को बासंती रंग से सराबोर कर जाता: प्रियंका राय Bihar India 

बसंत ऋतु का आगमन प्रकृति को बासंती रंग से सराबोर कर जाता: प्रियंका राय

धार्मिक अवसरों पर भी पीले वस्त्र पहनने की परम्परा, विवाह संस्कारों में भी नई दुल्हन को ‘पियरी’ दिए जाते लाल-पीले रंग हिन्दू धर्म में भी शुभ माने जाते हैं। विवाह संस्कारों में भी नई दुल्हन को ‘पियरी’ दिए जाते हैं। कई धार्मिक अवसरों पर भी पीले वस्त्र पहनने की परम्परा है। जैसे बसन्त पंचमी के अवसर पर भी अधिकांशत महिलाएं पीली...
वाह ताज: हर शख्स को एक बार अवश्य देखना चाहिए Bihar India 

वाह ताज: हर शख्स को एक बार अवश्य देखना चाहिए

मुख्य प्रवेश द्वार भी भव्य था। मानो कोई राजमहल में जा रहे हों। बाहर की दीवारें गेरुआ रंग से रंगे हुए थे। अंदर कुछ मीटर की दूरी पर ताजमहल अद्भुत और अद्वितीय दिख रहा था। देशी और विदेशी पर्यटकों में फोटोग्राफी की होड लगी थी। पुनः सफेद संगमरमर के ताज महल को देखने के लिए दो सौ रूपये का टिकट...
मुंगेर के इस सुरंग का दूसरा छोर कहाँ गया आज भी रहस्य Bihar 

मुंगेर के इस सुरंग का दूसरा छोर कहाँ गया आज भी रहस्य

आज का मुंगेर जिला बिहार के पिछड़े जिलों मे से एक है। आप में से बहुत लोग जानते होंगे कि बंगाल के अंतिम नबाव ‘मीर कासिम ‘ ने मुंगेर को ही अपनी राजधानी बनाया था। मीर कासिम ने गंगा नदी किनारे भव्य किले का निर्माण किया था। यह किला 1934 में बिहार में आये भीषण भूकम्प मे क्षतिग्रस्त हो गया लेकिन इसका...
मेरे भट्टकुर गांव में सदियों पुरानी परंपराएँ आज भी विद्यमान: प्रियंका राय Bihar India 

मेरे भट्टकुर गांव में सदियों पुरानी परंपराएँ आज भी विद्यमान: प्रियंका राय

“मेरा गाँव- मेरा देश” ऐतिहासिक और धार्मिक दृष्टिकोण से विश्व प्रसिद्ध त्रेतायुगीन इस मंदिर परिसर में प्रति वर्ष चैत्र और कार्तिक माह में महापर्व छठ व्रत करने वालों की भीड़ उमड़ पड़ती है। पश्चिमाभिमुख देव सूर्य मंदिर मान्यताओं के अनुसार, इसका निर्माण भगवान विश्वकर्मा ने स्वयं अपने हाथों से किया। प्रियंका राय/पटना परिन्दों की चहचहाहट…. चौपालों की बैठकें.. लहलहाती फसलें….मिट्टी...
ब्रह्मभट्टवर्ल्ड: एक नयी सोच, एक नयी खोज: राकेश शर्मा Bihar India 

ब्रह्मभट्टवर्ल्ड: एक नयी सोच, एक नयी खोज: राकेश शर्मा

इस समूह की यह खासियत रही है कि समाज में सच्चे निष्ठा से कार्य कर रहे किसी व्यक्ति या समुह के प्रति कोई पूर्वाग्रह नहीं रखता है तथा किसी भी फोरम पर किसी व्यक्तिगत टिका टिप्पणी से परहेज करता है क्योंकि हम जानते हैं कि हम रहें या ना रहें हमारा समाज आगे बढ़ता रहे और इसी नीति को लेकर...
अग्नि, पृथ्वी बनाने वाले डॉ. नौतम भट्ट को कितना जानते हैं: एसएन शर्मा Bihar India 

अग्नि, पृथ्वी बनाने वाले डॉ. नौतम भट्ट को कितना जानते हैं: एसएन शर्मा

डा. कलाम के बाद अगर दूसरे नंबर पर जामनगर के नौतम भट्ट का नाम अगर माना जाये तो? देखा जाये तो उनका नाम दूसरे स्थान पर उचित नहीं है, क्योंकि भारत में रक्षा शोध की नींव रखने वाले या रक्षा क्षेत्र में स्वावलंबन के लिये जरूरी संसाधन/ संशोधन के पायनियर डॉ कलाम नहीं बल्कि डॉ नौतम भट्ट थे SN Sharma/पटना आज...
मन नहीं भरा, इसलिए मंथन 2 दिन का रखें: बिंदु कुमारी Delhi India 

मन नहीं भरा, इसलिए मंथन 2 दिन का रखें: बिंदु कुमारी

मंथन का मेरा अनुभव, पार्ट-2 मेरी ये कोशिश थी कि मेरे सामने या मेरे आस पास जो भी दिखे, मैं उनसे मिलूँ और मैंने ऐसा किया भी। जिन महिलाओं को फेसबुक पर देखी हुई थी, उन्हें तो चेहरे से पहचान कर मिलने जाती ही थी, जिनको नहीं भी जानती थी, उनसे भी बातचीत की। पर चाहते हुए भी बहुत से...
मंथन-मंथन-मंथन की पुकार चारों ओर India Maharashtra 

मंथन-मंथन-मंथन की पुकार चारों ओर

आपसी प्रेम का मंथन से लौटकर ऐसा लग रहा है कि अपनों से मिलकर मन नहीं भरा, वो पल आँखों के आगे ही हैं, लगता है मंथन कम से कम दो दिन का होता और हम एक दूसरे से और मिल पाते। जब भी मंथन होगा, जहाँ भी होगा, मैं जरूर शामिल होऊँगी। बिंदु कुमारी/नवी मुंबई Bindu Kumari/Navi Mumbai जिधर...
1 2 3 22