You are here
बिखराव की कगार पर समाज Chattisgarh India 

बिखराव की कगार पर समाज

समय बहुत तेजी से बदल रहा है मैं अपने आसपास व अन्य स्थानों में देख रहा हूं अन्तरजातीय विवाह तेजी से बढ़ रहा है पहले यह इक्का-दुक्का ही था अब यह सभी समाजों में लगभग 40% हो गया है जो आगे बढ़ता ही रहेगा एेसा लगता है। दिनेश शर्मा/ भिलाई, छत्तीसगढ मैं मूलत: सुलतानपुर का हूं मेरे पिता भेल भोपाल...
दे दुआ! आज 23 ही है, हर-जनम मुझे यह यार मिले! India Uttar Pradesh 

दे दुआ! आज 23 ही है, हर-जनम मुझे यह यार मिले!

-शादी_सालगिरह पर मेरी कलम का एक प्रयास  आलोक शर्मा/महाराजगंज (यूपी) बचपन बीता यौवन आया, जीवन ने ली जब तरुणाई; इक हुकसी मन में होती थी, जब बजती थी कहीं शहनाई! अठ्ठारह बरस पूर्व जीवन, दो-दर्जन बरस अकेला था; मै कैसे तुझे बता दूँ प्रिय, क्या-क्या? तन-मन ने झेला था! मधुमास नहीं था जीवन में, केवल पतझड़ ने वार किया; दो...
राजकुमार शुक्ल के बगैर बापू की चर्चा अधूरी Bihar India 

राजकुमार शुक्ल के बगैर बापू की चर्चा अधूरी

चम्पारण शताब्दी समापन दिवस पर सत्याग्रह के सूत्रधार पं० राजकुमार शुक्ल को समर्पित चंपारण सत्याग्रह में दर्जनों लोगों ने बापू का साथ दिया. गांधी बिहार आगमन के पूर्व चंपारण में कई नायकों की भूमिका महत्वपूर्ण रही.’ इनमें कौन महत्वपूर्ण नायक था, तय करना मुश्किल. सबका अपना महत्व था. लेकिन 1907-08 के इस आंदोलन के बाद गांधी को चंपारण लाने में...
हँसते रहो, जिंदगी में Bihar Delhi India 

हँसते रहो, जिंदगी में

जब हम मिलजुल कर हँसते हैं तो वह हमें एक-दूसरे को करीब लाने के साथ ही हमारी खुशियों में वृद्धि भी करती है| हँसी हमारी ‘ इम्यून  सिस्टम ‘ को भी मजबूत करती है, शक्ति बढ़ाती है, पीड़ा भुलाती है, साथ ही तनाव से होने वाले नुकसान से बचाती भी है|  अवधेश राय/ New Delhi हँसना हमारे मनुष्य होने का...
उप्र में पहली बार मंत्री बने थे ब्रह्मभट्ट समाज के पं. रामकुमार शास्त्री India Uttar Pradesh 

उप्र में पहली बार मंत्री बने थे ब्रह्मभट्ट समाज के पं. रामकुमार शास्त्री

1. मैंने इस ग्रुप में एक सवाल पूछा था कि आजादी के तुरत बाद उत्तर प्रदेश में ब्रह्मभट्ट समाज के कौन से शख्स प्रदेश सरकार में मंत्री बने थे? उनका नाम और गांव बताइए।   2. सही जवाब है- पंडित रामकुमार शास्त्री जी। वे Eastern UP में ग्राम खेसरहा,जनपद सिद्धार्थनगर के वासी थे। पहले यह इलाका बस्ती जिले में था।...
समाज की बेटियां निरंतर आगे बढ़ रही India Maharashtra 

समाज की बेटियां निरंतर आगे बढ़ रही

मुंबई में बैंक में एक अच्छे पद पर काम कर रही हैं ज्योति शर्मा Written by Rekha Rai, Chennai मुंबई के AU Finance बैंक में बेहतरीन टीम मैनेजमेंट के लिए ज्योति शर्मा को बेस्ट अवार्ड : -इस BBW group में हम सुख और दुख दोनों तरह की सूचनाएं साझा करते रहते हैं ताकि आप समाज के हलचल से वाकिफ रहें।...
फैजाबाद में 88 स्वाजातीय गांव India Uttar Pradesh 

फैजाबाद में 88 स्वाजातीय गांव

‎Writtn by Jitendra Sharma Bhatt‎/Bulandshar/Faizabad फैजाबाद से कटकर अम्बेडकरनगर जिला बन जाने के बाद भी फैजाबाद में तकरीबन 88 गांवों में ये समाज निवासरत है जिनमे संख्या कुछ घर से लेकर सैकड़ो घर तक है ! जो स्वजन इन गांवों से हो फोन नम्बर व गांव भी लिखते रहे! ——-***********——–********* 1-भटपुरा ऊंचगांव 2-रामपुरभगन 3-सागरपुर ,4-उमापुर 5कर्मदांडे 6बीकापुर, 7-अबनपुर,   8-रेवतीगंज 9-नगईपुर...
ठहरो, ठहरो, ठहरो India Uttar Pradesh 

ठहरो, ठहरो, ठहरो

गीता भट्ट/इलाहाबाद हिरण भागता रहा, भागता रहा उस महक के पीछे-पीछे। यानी कस्तूरी के पीछे-।रुकने का नाम नही? थक गया हार गया, एक ही रास्ता बचा रुकना । जब ठहरा तो सिर झुकाया तो पता पडा कि मै जिसके पीछे भागते जा रहा था, वो मेरे खुद के पास ही है । इस जीवन काल( मृत्युलोक) मे परीक्षा सभी को...
मर-मरकर जी रही, मेरा क्या कसूर Bihar India 

मर-मरकर जी रही, मेरा क्या कसूर

कहीं लड़की और लड़के में 10-12-15 साल का अंतर। पता नहीं,  जब लड़की के माता-पिता शादी के लिए निकलते हैं तो इतना ही सोचते हैं कि लड़का अच्छा पैसा कमाता हो जो लड़की को सुख सुविधा दे सके। पर होता है इसके विपरीत। भारती रंजन कुमारी/दरभंगा आज हर पिता के मन मे एक डर है कि बेटी का विवाह जिस...
छोटे-छोटे दान की भी है अहमियत India Jharkhand Karnataka 

छोटे-छोटे दान की भी है अहमियत

नाई की आंखें भर आईं और वह कहने लगा “साहब, आजकल तो लोग काम करने के भी सही पैसे नहीं देते हैं और आप …”। पापा ने उससे कहा कि मेरा आशीर्वाद है और यह कहकर चल पड़े! रंजना राय/बंगलोर बचपन से ही दयालुता को लेकर मैं अनगिनत किस्से-कहानियाँ सुनती आ रही हूँ। मेरा विश्वास है कि जो दयालु होते,...
1 2 3 15