You are here
…और Brahmbhattworld का कारवां बढ़ता गया Delhi India 

…और Brahmbhattworld का कारवां बढ़ता गया

तमाम सामाजिक सुधारों पर बहस के साथ ही लेखक-लेखिका भी उभरकर सामने आने लगे –हमने कभी सोचा नहीं था कि एक दिन यह ब्रह्मभट्ट ग्रुप सबसे लोकप्रिय सोशल ग्रुप हो जाएगा -Roy Tapan Bharati, संस्थापक एडमिन, Ncr Delhi   कुछ लोग फोन कर कहते हैं कि आप सबका Brahmbhattworld ग्रुप उपयोगी जानकारी देने वाला सबसे अच्छा सामाजिक मंच है। मैंने...
जब डॉ मदन भट्ट जी की आँखें छलछला गईं India Uttar Pradesh 

जब डॉ मदन भट्ट जी की आँखें छलछला गईं

लखनऊ में डॉ मदन भट्ट जी को 1090 सेवा के office में आमंत्रित किया गया था। आपसबों को बता दूँ की 1090 फोन सेवा UP में महिलाओं के लिए हेल्पलाइन सेवा है, जिसमें पुलिस महिलाओं को परेशान करने वालों से तुरन्त और सख्ती से निबटती है। डॉ भट्ट ने वहाँ बड़े ध्यान से बारीकियाँ समझी और बहुमूल्य सुझाव भी दिए। देवरथ कुमार/ नवी...
My beloved Dada Late Dr SN Rana: Isha India Jharkhand 

My beloved Dada Late Dr SN Rana: Isha

Proud to say that about 90% of our Samaj from Dhanbad, Giridih, Hazaribagh even from Bihar was his Students to whom he helped financially and giving freeship. Written by Isha Gaurav, daughter of Er Sanjay Rana, Mumbai Commemorating puniya theethi of my beloved Dadaji Late Dr.Sachchidanand Rana S/O Lt Er. Gaurishankar Rana. My grand father’s 8th punnaya teethi was celebrated in Dhanbad...
मेरा गाँव गंगापुर, जिसकी एक अलग पहचान थी India Uttar Pradesh 

मेरा गाँव गंगापुर, जिसकी एक अलग पहचान थी

हमारे पूर्वज जौनपुर के रहनेवाले थे। जौनपुर से दो भाई आए ,एक (गंगापुर) में बस गए और एक भाई आरा जिला में स्थित (गऊडाढ़ ) ,नामक गाँव में बस गए। गऊडाढ़ हमारा गोतिया गाँव है। आज भी गंगापुर और गऊडाढ़ में शादी- विवाह नहीं होता है। उर्मिला भट्ट/ फर्रुखाबाद हर गाँव की अपनी कुछ ना कुछ विशेषता होती है। जिससे...
विविधताओं से भरा है मेरा गांव-बंगालखांड़: राकेश शर्मा Bihar India 

विविधताओं से भरा है मेरा गांव-बंगालखांड़: राकेश शर्मा

बंगालखांड़ में देहात तथा शहर दोनों का मिश्रित माहौल है जो प्रदूषण मुक्त है। लगभग सभी परिवारों के पास खेती से लेकर बागबगीचा और पोखरा तक हैं जहां बिरादरी के लोग ही मुखिया सरपंच पैक्स अध्यक्ष तथा वार्ड और विडीसी जैसे पदों को सुशोभित कर रहे हैं। यह स्थल प्राकृतिक तथा भौतिक संसाधनों से भरपूर भी है। एडवोकेट राकेश शर्मा/गोपालगंज बिहार राज्य में गोपालगंज जिले...
रक्षा मंत्रालय के अफसर समदर्शी की मौत महज 39 साल में Bihar Delhi India 

रक्षा मंत्रालय के अफसर समदर्शी की मौत महज 39 साल में

उनकी अंत्येष्टि दिल्ली छावनी में बरार चौराहे के निकट श्मशान घाट पर आज अपराह्न 3 बजे से  -परिवार सदमे में, दिल्ली वालों से आग्रह कि अंत्येष्टि में आने का कष्ट करें, समय की सूचना दोपहर में दूंगा -परिवार कनाट प्लेस में कस्तूरबा गांधी मार्ग पर 613, एशिया हाउस (भारतीय विद्या भवन के सामने) स्थित सरकारी क्वार्टर में रहता है -ईश्वर...
ममिया ससुर के यौन-शोषण से बचने के लिए वह मुसलमान बन गई India Maharashtra 

ममिया ससुर के यौन-शोषण से बचने के लिए वह मुसलमान बन गई

बिधवाएं सोचती थीं, इससे तो अच्छा होता पति के बदले वही मर जाती. वृंदावन और काशी (बनारस) की विधवाओं को घर वालों ने एक बार जो वहाँ लेकर जाकर छोड़ दिया फिर पलटकर देखा तक नहीं कि वह जिंदा हैं या मर गयीं. असीमा भट्ट/मुंबई (सभी फोटो लेखिका असीमा भट्ट की, वह मुंबई में वॉलीवुड और नाटकों की अभिनेत्री हैं) बात...
नवहट्टा गांव, जो पान-माछ-मखान के लिए मशहूर है Bihar India 

नवहट्टा गांव, जो पान-माछ-मखान के लिए मशहूर है

सहरसा से नवहट्टा की दूरी 22 किलोमीटर है जिसे निजी वाहन द्वारा 30 मिनट से कम समय में तय की जा सकती है। लगभग 90% घर पक्के हैं। कई NGO भी यहाँ कार्यरत हैं। गाँव में 22-23 घंटे की बिजली आपूर्ति की जाती है।  त्रिपुरारी राय ब्रह्मभट्ट/सहरसा ब्रह्मभट्ट समाज के गांवों की कहानी की अगली कड़ी में मैं अपने गाँव- नवहट्टा...
मददगार स्वजनों से छल मत कीजिए India Maharashtra 

मददगार स्वजनों से छल मत कीजिए

आइये हम सब मिलकर आत्ममंथन करें Written by Deorath Kumar, *मेरे मन की बात- दूसरी और अंतिम क़िस्त*   आशा है, आप सबों ने मेरे लेख की पहली किस्त पढ़ ली होगी।मेरे मन मे ये विचार काफी दिनों से चल रहा था। मेरे लेख का मकसद बहुत स्पष्ट है, यदि हम 10 परिवार भी इस पोस्ट की वजह से अपने भीतर...
इस पर विजय पा लें तो समाज बहुत आगे जाएगा: देवरथ India Maharashtra 

इस पर विजय पा लें तो समाज बहुत आगे जाएगा: देवरथ

मेरे मन की बात- पहली किश्त अपने समाज के लोगों ने पिछले कई सालों में आर्थिक रूप से काफी तरक्की की है जो सर्वविदित है। पर कुछ बातें नकारात्मक हैं जो हमें सामाजिक और बौद्धिक रूप से प्रगति करने से रोक रही है। अगर हम इस पर विजय पा लें तो हमारा समाज सचमुच बहुत आगे जाएगा। देवरथ कुमार/नवी मुंबई...
1 2 3 12