You are here
उस ब्रह्मभट्ट गाँव में गरीबी देखकर मन द्रवित हो उठा India Jharkhand 

उस ब्रह्मभट्ट गाँव में गरीबी देखकर मन द्रवित हो उठा

-डॉ. हरेन्द्र कुमार शर्मा, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, मरकच्चो, कोडरमा, झारखंड की कलम से   -(मेरे पति मेडिकल पेशे में बिजी रहने के कारण फेसबुक पर नहीं हैं इसलिए मेरे पोस्ट के जरिए उनका यह लेख जारी हो रहा है. हमारा मकसद डॉक्टर साहेब का प्रचार नहीं बल्कि समाज के हालात से अवगत कराना है- अमिता शर्मा, रांची)   स्वजनों,  ...
छोटे-छोटे दान की भी है अहमियत India Jharkhand Karnataka 

छोटे-छोटे दान की भी है अहमियत

नाई की आंखें भर आईं और वह कहने लगा “साहब, आजकल तो लोग काम करने के भी सही पैसे नहीं देते हैं और आप …”। पापा ने उससे कहा कि मेरा आशीर्वाद है और यह कहकर चल पड़े! रंजना राय/बंगलोर बचपन से ही दयालुता को लेकर मैं अनगिनत किस्से-कहानियाँ सुनती आ रही हूँ। मेरा विश्वास है कि जो दयालु होते,...
झारखंड के सतबहनी गांव में रामनवमी पर सुंदर झांकी Events India Jharkhand 

झारखंड के सतबहनी गांव में रामनवमी पर सुंदर झांकी

सतबहिनी गांव प्रकृति की गोद में बसा है। पूर्व में ऊंची चोटी वाली पहाड़ी है, पश्चिम में कल-कल बहती कोयल नदी का अदभुत नजारा है। गांव के चारों ओर हरियाली ही हरियाली है। वेद प्रकाश शर्मा/डालटनगंज झारखंड प्रदेश के पलामू जिले में सतबहिनी गांव है जहां ब्रह्मभट्ट परिवारों की संख्या करीब 1,000 है। मेरे इस गांव में एक भव्य देवी...
BBW समूह संस्कार पैदा करता है, चमत्कार नहीं Chattisgarh India Jharkhand 

BBW समूह संस्कार पैदा करता है, चमत्कार नहीं

रांची मंथन : एक विश्लेषण इस मंथन में भी महिला और पुरुषो की सहभागिता लगभग समान संख्या में थी. महिलाओ का सत्र अलग था, जिसका सञ्चालन रेखा राय, अमिता शर्मा और प्रियंका राय ने किया. इस सत्र में पटना की भारती और तमोरी गांव की  डॉ. संध्या रानी के सामाजिक विचार को लोगो ने ज्यादा पसंद किये. शंकर मुनि राय “गड़बड़”/राजनाँदगाँव, छत्तीसगढ़...
हम जैसे युवा को BBW मंथन बहुत कुछ दे गया: खुशी Bihar India Jharkhand 

हम जैसे युवा को BBW मंथन बहुत कुछ दे गया: खुशी

जो लोग इस मंथन में आए थे, उनके लिए यह दिन अविस्मरणीय रहेगा। ख़ासकर हम युवा पीढ़ी के लिए, जो पहली बार मंथन में शामिल हुए। लेखिका: Khushi Priya, 9th class/ Ranchi जब मैंने 2016 में फेसबुक  पर अकाउंट बनाया, तभी तपन अंकल ने मुझे इस ग्रूप से जोड़ा, लगभग 2 साल से मैं इस ग्रूप में हूँ। मैं सभी...
यही समय तो अद्भुत होगा…आलोक शर्मा India Jharkhand Uttar Pradesh 

यही समय तो अद्भुत होगा…आलोक शर्मा

=====”मन्थन” और मेरी कलम की “कल्पना”===== आलोक शर्मा/विसोखोर/महराजगंज/यूपी छः को चाँद मिलेगा पथ में, सात का सूरज मन्थन में; अनुजों को आशीष मिलेगा, अग्रज के अभिनंदन में! आठ बजे तक आ जायेंगे, निज कुल-वंशी प्यार लिए; 9 तक चाय-नाश्ता होगा, कॉफी अल्पा-हार लिए!   यही समय तो अद्भुत होगा, मेल-मिलन संग अपनों में; बड़ी हस्तियां सम्मुख होंगी, जिनको देखा है...
रांची को इंतजार है ब्रह्मभट्टवर्ल्ड मंथन का India Jharkhand 

रांची को इंतजार है ब्रह्मभट्टवर्ल्ड मंथन का

रांची मंथन में रजिस्ट्रेशन बंद, 300 से ऊपर निबंधन, आयोजन समिति व एडमिन टीम बधाई की पात्र लेखक द्वय: नवीन कुमार राय, उपाध्यक्ष और अजय राय, सचिव, रांची मंथन आयोजन समिति रांची ब्रह्मभट्टवर्ल्ड मंथन में अब महज चंद दिन बचे हैं। झारखंड की राजधानी के आयोजकों को इस मंथन का इंतजार है, वे स्वागत के लिए तैयार हैं। उन्हें पता...
My beloved Dada Late Dr SN Rana: Isha India Jharkhand 

My beloved Dada Late Dr SN Rana: Isha

Proud to say that about 90% of our Samaj from Dhanbad, Giridih, Hazaribagh even from Bihar was his Students to whom he helped financially and giving freeship. Written by Isha Gaurav, daughter of Er Sanjay Rana, Mumbai Commemorating puniya theethi of my beloved Dadaji Late Dr.Sachchidanand Rana S/O Lt Er. Gaurishankar Rana. My grand father’s 8th punnaya teethi was celebrated in Dhanbad...
जिन्होंने जीवन पर्यन्त इंसानी रिश्ते को महत्व दिया Bihar India Jharkhand 

जिन्होंने जीवन पर्यन्त इंसानी रिश्ते को महत्व दिया

पिता स्व. शशिभूषण राय, पूर्व डीएसपी, बिहार: ऐसा व्यक्तित्व जिन्होंने जीवन पर्यन्त इंसानी रिश्ते को ही महत्व दिया। ऐसा व्यक्तित्व जिनको पिता, भाई, मामा, फूफा आदि जैसे पारिवारिक रिश्ता मात्र में बांधकर नही रखा जा सका। नवीन कुमार राय/जमशेदपुर आज वर्तमान विदेशी परंपरा के अनुसार फादर्स दिवस (16 June) है। वैसे माता-पिता के लिए एक विशेष दिवस हो, यह उचित...
प्रकृति की गोद में बसा मेरा यादवपुर हमेशा अपनी ओर खींचता है: आमोद India Jharkhand 

प्रकृति की गोद में बसा मेरा यादवपुर हमेशा अपनी ओर खींचता है: आमोद

धनबाद  शहर से सटा होने के कारण यादवपुर, गांव न होकर एक कस्बा जैसा प्रतीत होता है, जहाँ शहर का प्रभाव साफ झलकता है। यह प्रकृति की गोद में भी बसा हुआ है। इसके चारों तरफ जंगल और पहाड़ हैं। गांव के चारों तरफ प्राकृतिक नदियाँ हैं जो पूरी तरह से बारिश पर निर्भर करती हैं। लेखक: आमोद कुमार शर्मा/बोकारो स्टील...
1 2