You are here
ममिया ससुर के यौन-शोषण से बचने के लिए वह मुसलमान बन गई India Maharashtra 

ममिया ससुर के यौन-शोषण से बचने के लिए वह मुसलमान बन गई

बिधवाएं सोचती थीं, इससे तो अच्छा होता पति के बदले वही मर जाती. वृंदावन और काशी (बनारस) की विधवाओं को घर वालों ने एक बार जो वहाँ लेकर जाकर छोड़ दिया फिर पलटकर देखा तक नहीं कि वह जिंदा हैं या मर गयीं. असीमा भट्ट/मुंबई (सभी फोटो लेखिका असीमा भट्ट की, वह मुंबई में वॉलीवुड और नाटकों की अभिनेत्री हैं) बात...
मददगार स्वजनों से छल मत कीजिए India Maharashtra 

मददगार स्वजनों से छल मत कीजिए

आइये हम सब मिलकर आत्ममंथन करें Written by Deorath Kumar, *मेरे मन की बात- दूसरी और अंतिम क़िस्त*   आशा है, आप सबों ने मेरे लेख की पहली किस्त पढ़ ली होगी।मेरे मन मे ये विचार काफी दिनों से चल रहा था। मेरे लेख का मकसद बहुत स्पष्ट है, यदि हम 10 परिवार भी इस पोस्ट की वजह से अपने भीतर...
इस पर विजय पा लें तो समाज बहुत आगे जाएगा: देवरथ India Maharashtra 

इस पर विजय पा लें तो समाज बहुत आगे जाएगा: देवरथ

मेरे मन की बात- पहली किश्त अपने समाज के लोगों ने पिछले कई सालों में आर्थिक रूप से काफी तरक्की की है जो सर्वविदित है। पर कुछ बातें नकारात्मक हैं जो हमें सामाजिक और बौद्धिक रूप से प्रगति करने से रोक रही है। अगर हम इस पर विजय पा लें तो हमारा समाज सचमुच बहुत आगे जाएगा। देवरथ कुमार/नवी मुंबई...
बैंकर ज्योति शर्मा की ऊंची उड़ान का सपना India Maharashtra 

बैंकर ज्योति शर्मा की ऊंची उड़ान का सपना

ज्योति शर्मा अभी मुंबई में AU FINANCIERS BANK की Astt vice president रेखा राय/चेन्नई ज्योति यानी Jyoti Sharma बचपन से ही अलग किस्म की थी। उसने ठान लिया था कि उसे जिंदगी में कुछ बनना है। बैंक की कठिन और चुनौती वाली नौकरी को उसने स्वीकार किया और मुंबई में आज वह उभरते बैंक- AU FINANCIERS BANK की असिस्टेंट वाइस...
मुझे लेकर साजन कहाँ जा रहे हो? Bihar India Maharashtra 

मुझे लेकर साजन कहाँ जा रहे हो?

÷मेरी स्वरचित कविता÷ ================================== आप सभी सम्मानित अग्रज व प्रिय अनुजगण के पसन्द को ताकत देने के लिए यह चन्द पंक्तियाँ आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहा हूँ, जो प्रियवर देवरथ जी सहित आप सभी मित्रों के प्रति उपजे नेह व भाव का प्रतिफल है ! आलोक शर्मा/महाराजगंज, यूपी शोख़-ए-अदा में~गजब ढा रहे हो! मुझे लेकर साजन कहाँ जा रहे...
तौहीन क्यों समझते विवाह योग्य बच्चों का परिचय देने में ? India Maharashtra 

तौहीन क्यों समझते विवाह योग्य बच्चों का परिचय देने में ?

एडवोकेट रमेश शर्मा/ नवी मुंबई मेरा यह लेख महाराजगंज (यूपी) के भाई आलोक शर्मा जी और बहन श्रीमती बिंदु जी के लेख के आलोक में  तथा मेरे पहले के लेखों के क्रम में है- मैंने एक सुझाव दिया था हो सके तो पटना मंथन के शून्य काल या किसी अन्य चर्चा में इच्छुक अभिभावकों की ओर से “शादी योग्य युवक-युवतियों के परिचय”...
गृहिणी का मतलब सिर्फ खाना बनाना, ये सरासर गलत Bihar India Maharashtra 

गृहिणी का मतलब सिर्फ खाना बनाना, ये सरासर गलत

लोग समझते हैं कि गृहिणी का मतलब सिर्फ खाना बनाना। ये सरासर गलत है। गृहिणियाँ 24 घंटे व्यस्त होती है। गृहिणी एक ऐसी प्राणी है जिसमें अपार शक्ति, बुद्धि, सहनशक्ति होती है। गृहिणियाँ Time Management, पाक कला, गृहसज्जा और भी न जाने कितने गुणों में निपुण होती हैं। गृहिणियों के इन्हीं गुणों के कारण घर सुचारू रूप से चलता है...
समाज से दूर हो रही नई पीढ़ी के लिए जिम्मेवार कौन? India Maharashtra 

समाज से दूर हो रही नई पीढ़ी के लिए जिम्मेवार कौन?

Brahmbhattworld की परिचर्चा क्या हमारी नई पीढ़ी नित्य अपने समाज से दूर हो रही है? कहीं इसके लिए जिम्मेदार हम तो नहीं ? ऐसा देखा जाता है की युवा पीढ़ी (नवयुवक और नवयुवतियाँ) समाज की बातों से खुद को दूर रखते हैं। कई बार यह भी देखा गया है की यदि समाज के लोग कभी उनके घर किसी कारणवश जाते...